Connect with us

व्यापार

आईटी कंपनियों को तोहफा, ‘वर्क फ्रॉम होम’ के साथ वर्क फ्रॉम एनिवेयर को बढ़ावा देगी सरकार

Published

on

आईटी कंपनियों को तोहफा, ‘वर्क फ्रॉम होम’ के साथ वर्क फ्रॉम एनिवेयर को बढ़ावा देगी सरकार

केंद्र ने BPO और आईटी सेवा (ITES) प्रदाता कंपनियों के लिए नियम सरल किए

नई दिल्ली:

केंद्र सरकार ने आईटी (IT) और बीपीओ (BPO) कंपनियों के लिए कामकाज के नियमों को आसान बना दिया है. इससे इन कंपनियों में वर्क फ्रॉम होम (घर से काम) की जगह वर्क फ्रॉम एनिवेयर (कहीं से भी काम) को बढ़ावा मिलेगा. ये उद्योग लंबे समय से सरकार से नियमों में बदलाव की मांग कर रहे थे.

यह भी पढ़ें

यह भी पढ़ें- Job Interview Tips:कोरोना संकट में कंपनियां ले रही हैं ऑनलाइन इंटरव्यू, ऐसे दें आंसर

केंद्र ने बिजनेस प्रोसेस आउटसोर्सिंग (BPO) और आईटी आधारित सेवाएं (ITES) प्रदाता कंपनियों के लिए दिशानिर्देशों को सरल कर दिया है. इससे उद्योग का अनुपालन बोझ कम होगा. साथ ही ‘Work From Home’ और ‘Work From Anywhere’ को बढ़ावा मिलेगा. नए नियमों से सेवाप्रदाताओं के लिए ‘घर से काम’ और ‘कहीं से भी काम’ के लिए अनुकूल माहौल बनेगा. ऐसी कंपनियों के लिए समय-समय पर रिपोर्टिंग और अन्य सेवा शर्तों को समाप्त कर दिया गया है.

आईटी उद्योग ‘वर्क फ्रॉम होम’ को लेकर लंबे समय से राहत दिए जाने की मांग कर रहा था और इसे स्थायी आधार पर जारी रखने की मांग कर रहा था. ओएसपी ऐसी कंपनियां हैं जो दूरसंचार संसाधनों का इस्तेमाल कर ऐप्लिकेशन, आईटी से जुड़ी सेवाएं या किसी प्रकार की आउटसोर्सिंग सेवाएं देती है. ऐसी कंपनियों को बीपीओ, नॉलेज प्रोसेस आउटसोर्सिंग (KPO), आईटीईएस और कॉल सेंटर (Call Centre) भी कहा जाता है. दूरसंचार के दिशानिर्देशों के अनुसार, ‘वर्क फ्रॉम होम’ का विस्तार कर इन कंपनियों को ‘वर्क फ्रॉम एनिवेयर’ उपलब्ध कराया जा रहा है.

रिमोट एजेंट कहीं से भी काम कर सकेगा

एजेंट/रिमोट एजेंट की स्थिति (वर्क फ्रॉम होम/एनिवेयर) की कुछ शर्तों के साथ मंजूरी दी गई है. इसमें कहा गया है कि घर पर एजेंट को ओएसपी केंद्र का ‘रिमोट एजेंट’ माना जाएगा. इंटरनकनेक्शन की अनुमति होगी. रिमोट एजेंट को देश में किसी भी स्थान से काम करने की अनुमति होगी. नए नियमों के तहत, ओएसपी के लिए पंजीकरण की जरूरत को समाप्त कर दिया गया है. डेटा से संबंधित कार्य से जुड़े बीपीओ उद्योग को इन नियमों के दायरे से बाहर कर दिया गया है.

भारत को आईटी क्षेत्र में और प्रतिस्पर्धी बनाने का कदम

नए नियमों का मकसद आईटी क्षेत्र को प्रोत्साहित करने के साथ भारत को सबसे अधिक प्रतिस्पर्धी आईटी स्थान के रूप में पेश करना है. नए नियमों से कंपनियों को ‘वर्क फ्रॉम होम’ और ‘वर्क फ्रॉम एनिवेयर’ के अनुकूल नीति अपनाने में मदद मिलेगी. केंद्र ने यह कदम ऐसे समय उठाया है जबकि कोरोना महामारी के कारण आईटी/बीपीओ कंपनियां अपने कर्मचारियों से घर से काम ले रही हैं.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Source link